Company Vision

मानव पूंजी भारत की सबसे बड़ी पूंजी है लेकिन वर्तमान समय में ख़राब शिक्षक, शिक्षा व्यवस्था और कम पढ़े-लिखे तथा कम जागरूक अभिभावक के कारण जनसंख्याँ का लगभग 70% लोगों में ऐसी कोई बात ही नही है कि उन्हें कोई अच्छा काम मिल सके | बी बॉक्स नामक कंपनी के द्वारा तैयार किया गया एक रिपोर्ट “इंडिया स्कील रिपोर्ट 2023” के अनुसार भारत में 50 % डिग्रीधारी जो ग्रेजुएट है तथा मास्टर डिग्री लिया हुआ है उसके पास कोई योग्यता ही नही है कि कोई कंपनी उसे job दे सके | इस रिपोर्ट को लगभग 4 लाख विद्दार्थियो का सर्वे करके तैयार किया गया था

इसका मूल कारण क्या है ? वजह ढुढने पर पता चला कि इसका मूल कारण है गली-गली में खुले घटिया कोचिंग सेंटर तथा मजबूर और कम पढ़े लिखे अभिभावक | हमारे राज्य बिहार में अभिभावक या तो पढ़े-लिखे नही हैं या कम पढ़े-लिखे हैं | या बहुत पढ़े-लिखे या जागरूक भी हैं तो उनके पास उतना समय ही नही है कि वे समझ पायें की उनके बच्चों के साथ चल क्या रहा है ? इसका फायदा उठाकर कोई भी व्यक्ति शिक्षक बन जा रहे हैं और बच्चों की जिंदगी बर्वाद कर दे रहे हैं | ऐसा ग्रामीण क्षेत्रों में सबसे ज्यादा होता है | हमने गाँव-गाँव जाने के बाद यह पाया की कई जगह ऐसे शिक्षक हैं जो इंटर के सभी विषय को अकेले पढ़ा रहे हैं | इससे आप समझ सकते हैं कि बच्चों के जिंदगी का क्या होगा ?

इन समस्याओं को देखते हुए मैंने MYF बनाया हैं जो बच्चों को शिक्षा से रोजगार तक पहुँचाने का उत्तम व्यवस्था प्रदान करती है | हम अछे शिक्षक के कमी को दूर करेंगे, पढ़े लिखे अभिभावक के कमी को दूर करेंगे, पढने-पढाने की व्यवस्था को दूरस्त करेंगे, रोजगार के लिए अच्छा प्लेटफार्म देंगे, बच्चों को भटकने से रोकेंगे, बच्चों के प्रतिभा को निखार कर उसे उस लायक बनायेंगे की वह मानव पूंजी में परिवर्तित हो सके | याद रखें MYF का मतलब ही है “MAKE YOUR FUTURE” अर्थात “अपना भविष्य बनायें” |

Company Mission

हम अगले 5 साल में 10 हजार ऐसा विद्यार्थी तैयार करेंगे जिसे कोई भी कंपनी अधिकतम सेलेरी पर रखना चाहेगी | मै शिक्षा के क्षेत्र में क्रांति लाना चाहता हूँ | इसके लिए ग्राम स्तर से राज्य स्तर तक सफल शिक्षकों का एक समूह तैयार करूँगा और उनके माध्यम से 5 साल में 2000 ऑफिसर तैयार करूँगा | बिहार के हर क्षेत्र में MYF का ऑफिस, कोचिंग और स्कूल खुलेगी और उसमे बच्चे 1 से 6 तक की पढ़ाई गाँव में पूरी करेगी, 7 से 10 तक की पढ़ाई अपने पंचायत में ही पूरा करेंगे, 11 से 12 तक की पढ़ाई अपने प्रखंड में पूरा करेंगे | तथा 12Th करने के बाद बच्चे हमारे कैरियर गाइडेंस सेंटर के माध्यम से आगे का रास्ता जिला या राज्य के राजधानी या भारत के किसी बड़े संस्थान के माध्यम से तय करेंगे | जब तक वह अपने जीवन में सफल नही हो जाते तब तक MYF के चार टीम उसकी देख-रेख करेगी और आगे बढ़ने का व्यवस्था देगी |